मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
मीडिया में रिपोर्टिंग पर रोक के लिए आसाराम ने लगाई गुहार PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 09 October 2013 09:14

जनसत्ता ब्यूरो
नई दिल्ली। नाबालिग लड़की के यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार  आसाराम ने अपने खिलाफ मीडिया में चल रहे अभियान पर अंकुश के लिए मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की। मुख्य न्यायाधीश पी सदाशिवम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के सामने आसाराम की याचिका का उल्लेख किया गया। अदालत ने इस याचिका को सुनवाई के लिए 21 अक्तूबर को सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया है। वकील विकास सिंह ने आसाराम का प्रेस में मीडिया ट्रायल रोकने का अनुरोध करते हुए कहा कि अन्यथा उनके मामले की निष्पक्ष सुनवाई संभव नहीं होगी।
उन्होंने कहा-मुकदमे की सुनवाई से पहले ही मीडिया मुझे सजा दे रहा है और मेरे मामले में निष्पक्ष सुनवाई नहीं होगी। उन्होंने अदालत से अनुरोध किया कि उनके खिलाफ बलात्कार के आरोपों के मद्देनजर मीडिया को आसाराम, उनके परिवार और आश्रमों


के बारे में काल्पनिक खबरें चलाने से रोका जाए। विकास सिंह ने कहा कि यदि मीडिया अदालत की कार्यवाही को सही तरीके से प्रस्तुत करता है तो उन्हें इस पर कोई आपत्ति नहीं होगी। लेकिन उनके आश्रमों के बारे में काल्पनिक खबरें चलाने से उसे रोक जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि आसाराम के आश्रमों में दस हजार लड़के लड़कियां शिक्षा ग्रहण करते हैं और मीडिया की खबरों से उन पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। आसाराम को एक नाबालिग लड़की के यौन शोषण के आरोपों में अगस्त में गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी के बाद से ही वह राजस्थान के जोधपुर की जेल में बंद हैं।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?