मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
पृथक तेलंगाना राष्ट्र को लेकर बंद हुआ सीमांध्र, अनशन करेंग जगनमोहन रेड्डी PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 04 October 2013 13:09

हैदराबाद। आंध्र प्रदेश को विभाजित करने के केन्द्रीय कैबिनेट के निर्णय के खिलाफ आज सुबह से यहां शुरू हुए 48 घंटे के बंद के कारण राज्य के तटवर्ती आंध्र एवं रायलसीमा क्षेत्रों में आम जनजीवन ठप हो गया।

वहीं वाईएसआर कांग्रेस अध्यक्ष वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने आज कहा कि आंध्रप्रदेश के विभाजन के केंद्र के फैसले के खिलाफ कल से वह यहां अनिश्चितकालीन अनशन करेंगे।
जगन ने यहां संवाददाताओं से कहा कि तटीय आंध्र और रायलसीमा के साथ की जा रही नाइंसाफी पर ध्यान दिलाने के लिए वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति और अन्य से मिलने दिल्ली जाएगा।
उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी की ओर किया जा रहा आंदोलन समूचे राज्य में चलता रहेगा। उन्होंने आश्चर्य जाहिर किया कि इतना महत्पवपूर्ण मुद्दा आंध्रप्रदेश विधानसभा में लाए बिना राज्य का कैसे विभाजन किया जा सकता है। 
कर्नाटक और तमिलनाडु जैसे राज्यों के बीच विवादों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा आंध्रप्रदेश के विभाजन के बाद पानी का किस तरह बंटवारा होगा।
उधर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन किरण कुमार रेड्डी ने कैबिनेट के निर्णय के बाद उत्पन्न घटनाक्रमों पर विचार विमर्श के लिए मंत्रियों, सांसदों, विधायकों एवं विधान पार्षदों की आज दोपहर एक आपात बैठक बुलाई है।
संयुक्त आंध्र समर्थकों ने राजमार्ग पर नाकेबंदी कर दी तथा दोनों क्षेत्रों में दुकानों, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों एवं शिक्षण संस्थानों को


जबरदस्ती बंद करवाया।
प्रदर्शनकारियों ने विभिन्न नगरों में रैलियों और धरनों का आयोजन किया।
आंध्र प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम सहित राज्य सरकार के आंध्र समर्थक कर्मचारी मध्य अगस्त से ही हड़ताल कर रहे हैं।
श्रीकाकुलम, कडप्पा, चित्तूर जैसे जिलों से सार्वजनिक एवं निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने और सत्तारूढ़ कांग्रेस के कार्यालयों पर हमले की खबरें मिली हैं।
आंध्र प्रदेश गैरराजपत्रित अधिकारियों तथा संयुक्त आंध्र समर्थकों ने 48 घंटे के बंद का आह्वान किया है। वाईएसआर कांग्रेस ने 72 घंटे के बंद का अलग से आह्वान किया है।
अनंतपुर जिले में तेदेपा एवं वाईएसआर कांगे्रस के कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष हुआ। तेदेपा विधायक परिताला सुनीता ने आरोप लगाया कि वाईएसआर कांगे्रस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के दौरान उन्हें रोकने का प्रयास किया और उन पर पथराव भी किया।
केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री एम एम पल्लम राजू और फिल्म अभिनेता एवं पर्यटन मंत्री चिरंजीवी ने कल रात कैबिनेट के निर्णय के बाद इस्तीफे की पेश की है।
मीडिया में आई खबरों के अनुसार आंध्र प्रदेश को विभाजित करने के निर्णय के खिलाफ कुछ कांग्रेस सांसद एवं अन्य नेता पार्टी छोड़ने के बारे में विचार कर रहे हैं।
(भाषा)

 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?