मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
हमसे कभी नाराज नहीं हो सकते आजम खां : मुलायम सिंह यादव PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 12 September 2013 14:44

आगरा। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में वरिष्ठ नेता आजम खां की गैरमौजूदगी को लेकर दल में कड़े स्वर उठने के बीच समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने आज कहा कि खां उनसे कभी नाराज नहीं हो सकते और उन्हें पता है कि वह बैठक में क्यों नहीं पहुंचे।
यादव ने सपा कार्यकारिणी बैठक सम्पन्न होने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में खां की गैरहाजिरी के बारे में पूछे जाने पर कहा ‘‘आजम खां हमसे कभी नाराज नहीं हो सकते। उन्हें कहीं जाना हो सकता है या फिर कुछ और बात हो सकती है।’’
इस सवाल पर कि क्या खां पार्टी और सरकार से असंतुष्ट होने के कारण बैठक में नहीं आये, उन्होंने कहा ‘‘यह आपका कहना है, हमें पता है कि आजम क्यों नहीं आये।’’
खां के खिलाफ सपा के वरिष्ठ नेताओं के बयानों के बारे में यादव ने कहा ‘‘हमारी पार्टी लोकतांत्रिक है, तानाशाही नहीं है। जो बयान देने वाले होते हैं, वे दिये जाते हैं। आजम खां का पार्टी में कोई विरोध नहीं कर रहा है।
यह पूछे जाने पर कि खां मंत्रिपरिषद की बैठकों में भी हिस्सा नहीं ले रहे हैं, उन्होंने कहा ‘‘यह मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से पूछिये, हम क्या बताएं।’’
गौरतलब है कि सपा की राष्ट्रीय


कार्यकारिणी की बैठक से वरिष्ठ नेता आजम खां के अनुपस्थित रहने पर नाराजगी जाहिर करते हुए सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने आज कहा था कि पार्टी से बड़ा कोई नहीं है। खां पार्टी के पदाधिकारी हैं। उन्हें जिम्मेदारी निभानी चाहिये, नहीं तो इस्तीफा दे देना चाहिये।
बैठक में खां के शिरकत नहीं करने पर उन्होंने कहा ‘‘कौन आ रहा है, कौन नहीं। हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। वह :खां: या तो बैठक में शामिल हों या फिर इस्तीफा दे दें।’’
सपा के एक अन्य वरिष्ठ नेता नरेश अग्रवाल ने भी खां के आचरण की आलोचना की थी।
ज्ञातव्य है कि सपा का मुस्लिम चेहरा कहे जाने वाले खां के पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में शिरकत नहीं करने को लेकर तरह-तरह की अटकलें लगायी जा रही हैं।
खां ने पिछले महीने सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव द्वारा विश्व हिन्दू परिषद के नेताओं से मुलाकात किये जाने पर सख्त नाराजगी जाहिर की थी। यह भी माना जा रहा है कि वह मुजफ्फरनगर में भड़की हिंसा के प्रति राज्य सरकार की कार्यवाही से भी नाखुश थे।
(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?