मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
अभी भी मास्को हवाई अड्डे पर हैं स्नोडेन, रूस पर दबाव डाल रहा है अमेरिका PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 25 July 2013 17:38

मास्को। अमेरिकी खुफिया विभाग की गोपनीय सूचनाएं लीक करने वाले एडवर्ड स्नोडेन आज मास्को हवाई अड्डे से बाहर निकलने की अनुमति का इंतजार कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर अमेरिका रूस पर उसे वापस भेजने को लेकर दबाव बना रहा है। स्नोडेन पिछले एक महीने से मास्को हवाई अड्डे के ट्रांजिट जोन में फंसे हुए हैं ।
सरकारी मीडिया ने कल संकेत दिया था कि प्रशाासन स्नोडेन को ट्रांजिट जोन से बाहर निकलने और रूस की सीमा में प्रवेश करने की अनुमति देने की प्रक्रिया में जुटा है ।
स्नोडेन ने रूस में शरण के लिए आवेदन किया है और फिलहाल वह औपचारिक तौर पर देश की सीमा में प्रवेश करने के लिए वैध दस्तावेज मिलने का इंतजार कर रहे हैं ।
अमेरिका का कहना है कि यदि रूस स्नोडेन को शरण देता है तो यह कदम ‘बेहद निराशाजनक’ होगा ।
रूस के विदेश मंत्री सेरगी लावरोव ने बुधवार को अमेरिकी विदेश मंत्री


जॉन केरी से स्नोडेन के मामले में बातचीत की, लेकिन अभी यह स्पष्ट नहीं है कि दोनों की बातचीत का उनके भविष्य पर कोई प्रभाव होगा या नहीं ।
अमेरिका स्नोडेन के खिलाफ अमेरिकी सर्विलांस कार्यक्रम संबंधी गोपनीय सूचनाएं लीक करने के मामले में सुनवायी करना चाहता है लेकिन मास्को ने उसे सौंपने से इनकार कर दिया है।
रूस में अमेरिका के राजदूत ने आज दोहराया कि दोनों देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि नहीं होने के बावजूद वाशिंगटन चाहता है कि मास्को स्नोडेन को उसे सौंप दे ।
राजदूत माइकल मैकफुल ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘अमेरिका प्रत्यर्पण की बात नहीं कर रहा है, वह सिर्फ स्नोडेन को वापस लौटाने को कह रहा है । हमने कई लोगों को रूस वापस भेजा है ।’’
एएफपी

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?