मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
इराक में जेलों पर घातक हमला, कम से कम 500 कैदी फरार PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 23 July 2013 12:23

बगदाद। इराक में आतंकवादियों ने कुख्यात अबू गरेब समेत दो जेलों पर घातक हमला करके कम से कम 500 कैदियों को रिहा करा लिया है और इस दौरान सुरक्षाकर्मियों के साथ रातभर चली उनकी मुठभेड़ में कम से कम 41 लोग मारे गए।
अधिकारियों ने बताया कि ये हमले उत्तरी बगदाद के ताजी और बगदाद के पश्चिम में स्थित अबू गरेब में कल रात शुरू हुए । हमलावरों और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प करीब 10 घंटे तक चली।
जिहादियों ने ट्विटर अकाउंट समेत सोशल मीडिया पर पोस्ट करके हजÞारों कैदियों को छुड़ाने का दावा किया।
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों जेलों में करीब 10,000 कैदी थे।
संसदीय सुरक्षा एवं रक्षा समिति के एक सदस्य हकील अल जमीली ने एएफपी से कहा, ‘‘अबु गरेब जेल से करीब 500 कैदी फरार हो गए।’’
उन्होंने कहा कि भागने वाले कैदी ‘आतंकवादी’ थे और उनके अनुसार ताजी जेल से कोई कैदी भागने में सफल नहीं हो सका।    
हालांकि सुरक्षा एवं रक्षा समिति के सदस्य और सांसद श्वान ताहा ने आॅनलाइन बयान जारी करके कहा कि दोनों जेलों


से 500 से 1000 कैदी भाग गए हैं।
अधिकारियों ने बताया कि झड़प में सुरक्षा बलों के कम से कम 20 सदस्य मारे गए और 40 लोग घायल हो गए जबकि कानून मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि दोनों जेलों में हुई झड़पोंं में 21 कैदी मारे गए हैं और 25 घायल हुए हैं। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि जेलों पर हमला करने वाले में से कितने हताहत हुए। 
पुलिस के अनुसार हमलावरों ने कल रात साढ़े नौ बजे जेलों पर मोर्टार दागे । जेलों के मुख्य दरवाजों के पास कार बमों में विस्फोट किया गया जबकि ताजी जेल पर तीन आत्मघाती हमले हुए । ताजी में जेल के पास सड़क के किनारे भी पांच बम विस्फोट हुए ।
उन्होंने बताया कि झड़प रात भर चलती रही । सेना ने सुरक्षाबलों की सहायता के लिए हेलीकॉप्टर और दोनों जेलों में अतिरिक्त सिपाही भेजे । सुबह तक स्थिति पर काबू पाया जा सका ।
(एएफपी)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?