मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
दूसरे मैच में वापसी की कोशिश करेगा आस्ट्रेलिया PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 18 July 2013 12:23

लंदन। पहले टैस्ट मैच में 14 रन की करीबी हार और पूर्व कोच मिकी आर्थर के खुलासों से आहत आस्ट्रेलिया इन सब चीजों को भुलाकर इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार से लार्ड्स में होने वाले दूसरे एशेज टैस्ट क्रिकेट मैच में वापसी की कोशिश करेगा।


नाटिंघम में हालांकि पहले टैस्ट मैच में आस्ट्रेलिया ने जिस तरह का प्रदर्शन किया उसे देखते हुए उसके लिए काम आसान नहीं लगता है लेकिन इंग्लैंड की भी कुछ कमजोरियां सामने आई हैं और माइकल क्लार्क की टीम इन्हें भुनाने की कोशिश करेगी। लेकिन इस बीच बर्खास्त कोच आर्थर के खुलासों से टीम पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। एशेज से ठीक पहले हटाए गए आर्थर ने क्रिकेट आस्ट्रेलिया से 40 लाख आस्ट्रेलियाई डालर का मुआवजा मांगा है। इस दक्षिण अफ्रीकी ने आस्ट्रेलियाई तरीका नहीं समझ पाने के कारण भेदभाव और कप्तान क्लार्क और पूर्व उपकप्तान शेन वाटसन के बीच मतभेद का खुलासा किया है।
आर्थर के अनुसार क्लार्क ने भारत के खिलाफ मोहाली टैस्ट से बाहर किए गए वाटसन को टीम के लिए ‘कैंसर’ बताया था। इस दक्षिण अफ्रीकी ने इन दोनों खिलाड़ियों के बीच के द्वंद्व में खुद की स्थिति को ‘सैंडविच के बीच मांस’ जैसी करार दिया था। इसके बाद वाटसन की जगह ब्रैड हैडिन को उपकप्तान बनाया गया लेकिन यह विकेटकीपर बल्लेबाज अब भी टीम में है। नाटिंघम में दूसरी पारी में 71 रन बनाकर आस्ट्रेलिया को जीत के करीब पहुंचाने वाले विकेटकीपर हैडिन ने हालांकि कहा कि टीम में सब कुछ सही चल रहा है। उन्होंने कहा कि आस्ट्रेलियाई ड्रेसिंग रू म में किसी तरह की परेशानी नहीं है। मैं नहीं जानता कि हमें कितनी बार इसका जवाब देने की जरूरत पड़ेगी। हम एशेज अभियान को लेकर काफी उत्साहित हैं। नाटिंघम में आस्ट्रेलिया की हार का कारण उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों का नहीं चल पाना रहा। कोच डेरेन लीमन इसमें काफी सुधार कर सकते हैं, इसमें संदेह है हालांकि तीसरे नंबर के बल्लेबाज एड कोवान को बाहर करके उनके स्थान पर उस्मान ख्वाजा को रखा जा सकता है।
आस्ट्रेलिया की दसवें विकेट की जोड़ी ने टेÑंट ब्रिज में 228 रन जोड़े। इनमें अपना पहला टैस्ट मैच खेल रहे एस्टन एगर की पहली पारी 98 रन की रेकार्ड पारी भी


शामिल है। उन्होंने फिल ह्यूज के साथ 163 रन की साझेदारी की। लीमन भी मानते हैं कि उनके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘हमारे पुछल्ले बल्लेबाजों ने वास्तव में अच्छा खेल दिखाया लेकिन अब समय आ गया है जबकि शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को रन बनाने होंगे।’
इंग्लैंड ने चार साल पहले लार्ड्स में खेले गए आखिरी एशेज टैस्ट मैच में 115 रन से जीत दर्ज की थी। यह ‘क्रिकेट के मक्का’ पर पिछले 75 साल में आस्ट्रेलिया पर उसकी पहली जीत थी। मैदान पर हल्की ढलान यहां के बारे में अधिक जानकारी नहीं रखने वाले गेंदबाजों और बल्लेबाजों के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकती है लेकिन आस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज क्रिस रोजर्स को यहां खेलने का फायदा मिल सकता है क्योंकि वे मिडिलसेक्स की तरफ से यहां खेलते रहे हैं। यही बात इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टीवन फिन पर भी फिट बैठती है। ट्रेंट ब्रिज की धीमी प्रकृति की पिच उनके पसंद की नहीं थी लेकिन यहां की अच्छी जानकारी होने के कारण उन्हें अंतिम एकादश में बरकरार रखा जा सकता है।
इसके विपरीत आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जैकसन बर्ड को पहले मैच में अनियंत्रित गेंदबाजी करने वाले मिशेल स्टार्क की जगह अंतिम एकादश में शामिल किया जा सकता है। लेकिन जो भी एकादश मैदान पर उतरेगी उसके पहले दिन का खेल महारानी एलिजाबेथ द्वितीय देखेंगी।
इंग्लैंड के विकेटकीपर मैट प्रायर को उम्मीद है कि फिर से मुकाबला बेहद कड़ा होगा। उन्होंने कहा, ‘आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी फाइटर हैं। वे कभी हार नहीं मानते। हमें खुद को जीत की स्थिति में रखने के लिए उन्हें उसी तरह की कड़ी चुनौती देनी होगी।’
पहला टैस्ट मैच अंपायरों की गलतियों के कारण विवादों से घिरा रहा। पाकिस्तान के अलीम डार, श्रीलंका के कुमार धर्मसेना, दक्षिण अफ्रीका के मारियास इरासमुस और न्यूजीलैंड के टोनी हिल पर एशेज मैचों की जिम्मेदारी है। धर्मसेना फिर से मैदानी अंपायर की भूमिका निभाएंगे जबकि इरासमुस तीसरे अंपायर के बजाय इस बार मैदान पर उतरेंगे। हिल तीसरे अंपायर का काम देखेंगे जबकि डार की इस मैच में कोई भूमिका नहीं होगी।

(एएफपी)।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?