मुखपृष्ठ अर्काइव
Bookmark and Share
महिला आइएएस से सर्किट हाउस में अभद्र व्यवहार PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 16 July 2013 09:03

अरविंद कुमार, वाराणसी। वाराणसी में तैनात महिला आइएएस अफसर से सर्किट हाउस में दुर्व्यवहार हुआ। प्रशिक्षण के लिए शासन ने उनको वाराणसी में नियुक्त किया है। घटना की सूचना मिलने पर आइएएस एसोसिएशन इसे गंभीरता से लिया है। महिला आइएएस सर्किट हाउस में रह रही हैं। आरोप कर्मचारियों पर लगा है। इस मामले को लेकर भाजपा, सपा, कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टी ने राज्य सरकार के कामकाज पर सवाल उठाया और कहा प्रदेश में अपराधी जहां बेलगाम हो गए हैं, वहीं सरकार कर्मचारी अपने कामकाज पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। पूरे राज्य में जंगलराज हो गया है। अपराधियों का मन बढ़ गया है और महिलाओं के उत्पीड़न का ग्राफ भी बढ़ा है।
अब प्रशिक्षु महिला आईएएस के साथ भी सर्किट हाउस में दुर्व्यवहार हो रहा है। वीवीआईपी की सुरक्षा से जुड़े सर्किट हाउस में जो कायदे कानून हैं, उनकी अनदेखी किए जाने से कर्मचारी एक बार फिर कटघरे में है। सूत्रों के अनुसार पदाधिकारियों ने सर्किट हाउस के कमरों पर कब्जा जमा रखा था। बाद में प्रशासन के आग्रह करने पर उन्होंने कमरे खाली किए। सर्किट हाउस का प्रभार किसी अवर अभियंता के पास है लेकिन ड्यूटी कोई और संभाल रहा है। प्रशिक्षु महिला आईएएस के साथ दुर्व्यवहार के मामले को सर्किट हाउस के कर्मियों ने दो दिन दबाए रखा।
बीते मंगलवार की रात


दुर्व्यवहार की घटना से क्षुब्ध महिला आइएएस ने शिकायत की, तो जिलाधिकारी प्रांजल यादव ने रात में ही लोक निर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर पीके मित्तल और अधिशासी अभियंता कन्हैया झा को तलब किया मगर दोनों बनारस में नहीं थे। उनकी जगह विभाग के स्टाफ अफसर राजेंद्र राम, अवर अभियंता आनंद लाल और स्टेनो अंशु आनंद के डीएम कैम्प कार्यालय में हाजिरी लगाने पर जिलाधिकारी ने तीनों को मौके पर भेजा।
सूत्रों के अनुसार आरोप है कि मंगलवार की रात अभियंता शिव मंगल यादव उनके कमरे में गए और महिला अफसर के साथ अभद्र व्यवहार किया और शिकायत किए जाने पर जिलाधिकारी ने आरोपी अवर अभियंता को हटा कर उसकी जगह आनंद लाल को चार्ज सौंप दिया। हटाए गए अभियंता से जवाब मांगा गया।
उधर, आरोपी अभियंता का कहना है कि महिला अधिकारी ने फोन कर भोजन में कमियों की बाबत शिकायत दर्ज करने के लिए कमरे में बुलाया था। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या प्रशिक्षु आईएएस सर्किट हाउस में ठहर सकते हैं। अधिशासी अभियंता कन्हैया झा ने बताया कि अवर अभियंता से सफाई मांगी गई है। जांच के बाद आरोपी की जवाबदेही तय की जाएगी। मामले की छानबीन कराई जा रही है।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?