मुखपृष्ठ अर्काइव
Bookmark and Share
युद्ध अपराध के आरोपी पर फैसले से पहले बांग्लादेश में झड़पें PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 15 July 2013 11:03

ढाका। वर्ष 1971 मुक्ति संग्राम के दौरान ‘मानवता के खिलाफ अपराधों’ के आरोपी एक कट्टरपंथी इस्लामी नेता के मामले में अहम फैसले की पूर्व संध्या पर बांग्लादेश में आज झड़पें हुई जिसके बाद देश में सुरक्षा बढ़ा दी गई। गुलाम आजम :91: वर्ष 1971 में कट्टरपंथी जमात ए इस्लामी के पूर्वी पाकिस्तान शाखा के पूर्व प्रमुख और प्रांतीय मंत्री थे। तीन सदस्यीय अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायाधिकरण के अध्यक्ष न्यायमूर्ति एटीएम फैजल कबीर ने आजम के खिलाफ आरोपों की सुनवाई करीब तीन महीनों में पूरी करने के बाद अदालतीकक्ष में कहा, ‘‘कल :सोमवार: फैसला सुनाया जाएगा।’’ न्यायाधिकरण ने जेल अधिकारियों को फैसला सुनाये जाने के समय अदालत में आजम की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया।


न्यायाधिकरण ने आजम के वकील के इस अनुरोध को खारिज कर दिया कि उनकी उपस्थिति में फैसला नहीं सुनाया जाए। न्यायाधिकरण की इस घोषणा के बाद जमात ने राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल का आह्वान किया क्योंकि उन्हें आशंका है कि उनके नेता को दोषी ठहराया जा सकता है। पार्टी के संदिग्ध कार्यकर्ताओं ने राजधानी में तीन पुलिसकर्मियों से मारपीट की और वाहनों को जला डाला। उन्होंने शहर के कई भागों में देसी बम फेंके। अगर आजम को दोषी ठहराया जाता है तो उन्हें मौत की सजा भी हो सकती है। भाषा

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?