मुखपृष्ठ अर्काइव
Bookmark and Share
लाल मस्जिद : अदालत ने मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 12 July 2013 18:07

इस्लामाबाद। मुश्किलों से घिरे पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के लिए नयी कानूनी समस्या खड़ी हो गयी है। इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने आज लाल मस्जिद अभियान में उनकी कथित संलिप्तता के लिए पूर्व सैन्य शासक के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया।
इस्लामाबाद हाई कोर्ट के न्यायाधीश नुरूल हक कुरैशी ने लाल मस्जिद के गाजी अब्दुल रशीद के बेटे हारून रशीद द्वारा दाखिल एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया । रशीद ने अपने पिता तथा दादा की हत्या में संलिप्तता के लिए मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने की अपील की है ।
सुनवाई के दौरान, न्यायाधीश ने कहा कि रशीद का बयान दर्ज किया जाना चाहिए।
3 जुलाई 2007 को मुशर्रफ ने राज्य के अधिकार को चुनौती देने के लिए मस्जिद के खिलाफ सैन्य कार्रवाई किए जाने का आदेश दिया था।
सेना ने परिसर पर हमला करने से पूर्व 12 दिन तक मस्जिद की


घेराबंदी किए रखी थी। इस हमले में सैंकड़ों छात्र मारे गए थे ।
लाल मस्जिद के पूर्व मौलवी पर आरोप था कि उन्होंने रेंजरों पर हमले के लिए मदरसे के छात्रों को मस्जिद के लाउडस्पीकर का इस्तेमाल कर भड़काया । रेंजरों को , गाजी तथा उनके सहयोगियों ने लोगों को डराने धमकाने के लिए मस्जिद से जो अभियान चला रखा था , उसे रोकने के लिए तैनात किया गया था।
पिछले साल आतंकवाद विरोधी अदालत ने गाजी तथा 16 अन्य लोगों को रेंजर अधिकारियों की मौत के मामले में बरी कर दिया था।
संघ सरकार पहले ही मुशर्रफ के खिलाफ नवंबर 2007 में देश में आपातकाल लगाने और संविधान को ध्वस्त करने के आरोप में राष्ट्रद्रोह का मुकदमा चलाने की पहल कर चुकी है ।
(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?