मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
विपक्ष ने लगाया बड़े पैमाने पर बूथ कब्जे का आरोप PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 12 July 2013 11:43

जनसत्ता संवाददाता, कोलकाता। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भले जंगलमहल में पंचायत चुनाव का पहला दौर शांतिपूर्ण होने की बात कह कर अपनी पीठ थपथपा रही हों, विपक्षी दल उनसे जरा भी सहमत नहीं हैं। माकपा और कांग्रेस ने तृणमूल कांग्रेस पर बड़े पैमाने पर मतदान केंद्रों पर कब्जे का आरोप लगाते हुए खासकर पश्चिम मेदिनीपुर में पंचायत चुनाव को एक नाटक करार दिया है।
माकपा के प्रदेश सचिव विमान बसु ने यहां पत्रकारों से कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने जंगलमहल के तीनों जिलों में मतदान के दौरान बड़े पैमाने पर मतदान केंद्रों पर कब्जा किया है। कांग्रेस नेता अब्दुल मान्नान ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं की दबंगई की वजह से मेदिनीपुर में पंचायत चुनाव एक नाटक बन कर रह गया।
बसु ने विभिन्न जिलों में बूथों पर कब्जे का ब्योरा देते हुए कहा कि जंगलमहल में सुरक्षा के नाम पर जिस केंद्रीय बल के लिए सरकार व चुनाव आयोग के बीच महीनों लंबी लड़ाई चली, कई बूथों पर उन जवानों को तैनात ही नहीं किया गया। उनका आरोप था कि तृणमूल ने बूथों पर कब्जे के लिए ही अपने दखल वाले इलाकों


में केंद्रीय बल के जवानों को तैनात नहीं किया।
इस बीच बांकपड़ा के एक मतदान केंद्र में कुछ बाहरी लोगों ने मतपेटी छीन ली। पश्चिम मेदिनीपुर के पांशकुड़ा में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ माकपा के दफ्तर में तोड़फोड़ की भी खबर है। सबंग में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ हिंसक झड़प में घायल कांग्रेस कार्यकर्ता दीपंकर घोष को यहां एसएसकेएम अस्पताल में दाखिल कराया गया है। उसके शरीर पर तीर के घाव हैं। माकपा ने केशपुर, सबंग व पिंगला में भी ज्यादातर बूथों पर कब्जे का आरोप लगाया है। पश्चिम मेदिनीपुर ही हिंसा की अलग-अलग घटनाओं में माकपा और भाजपा के एक-एक उम्मीदवार समेत नौ लोग घायल हो गए।
गुरुवार की चुनावी हिंसा की घटनाओं के विरोध में कांग्रेस ने शुक्रवार को काला दिवस मनाने का फैसला किया है। पार्टी के एक प्रवक्ता ने बताया कि आलाकमान सोनिया गांधी के निर्देश पर अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के एक पर्यवेक्षक शुक्रवार को राज्य के दौरे पर आएंगे।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?