मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
कनाट प्लेस में निर्माण कार्यों का मुख्यमंत्री ने जायजा लिया PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 05 July 2013 09:57

जनसत्ता संवाददाता, नई दिल्ली। मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने गुरुवार को कनाट प्लेस के पुनर्विकास के जारी कार्य का निरीक्षण किया और स्थिति का जायजा लिया। इसके अलावा उन्होंने इस काम को जल्द से जल्द समाप्त करने की जरूरत जताई। मुख्य सचिव दीपक मोहन सपोलिया, एनडीएमसी अध्यक्ष अर्चना अरोड़ा, सीएमडी ईआइएल और अन्य के साथ दीक्षित ने कनाट प्लेस के लगभग सभी ब्लॉक का दौरा किया और सुधार के लिए जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने पुनर्विकास के समूचे कार्य को जल्द पूरा करने पर बल देते हुए कहा कि इससे उनकी सरकार को पुनर्विकसित, कायाकल्पित और शानदार तरीके से बहाल किए गए कनाट प्लेस का उद्घाटन करने में मदद मिल सके।
दिल्ली सरकार हमेशा से कनाट प्लेस के गौरव को लौटाने की बेहद इच्छुक रही है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि उनकी सरकार अब और देरी बर्दाश्त नहीं करेगी।
दीक्षित ने कहा कि पुनर्विकसित कनाट प्लेस की चमक फिनिशिंग कार्य पर निर्भर करेगी। अगर फिनिशिंग में कोई कमी


रह गई तो वह कनाट प्लेस की सुंदरता पर धब्बा होगी। सर्विस केबल और यूटीलिटीज को तुरंत सुरंग के अंदर ले जाया जाना चाहिए। इसके अलावा पैदल क्षेत्र में फुटपाथ का काम भी पूरा किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि लटकती हुई बिजली की तारें कनाट प्लेस में नहीं दिखनी चाहिएं।
उन्होंने आंतरिक आंगन, अंदरुनी सर्कल और गैलरी में चलने के स्थान को भी सही रूप देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बागवानी के कार्य में भी काफी सुधार की जरूरत है।
उन्होंने एनडीएमसी को निर्देश दिया कि सड़क पर स्थित कियोस्क को समुचित रूप से डिजाइन किया जाए और पोस्टर हटाने का विशेष अभियान शुरू किया जाए। स्वच्छता और सफाई की जरूरत बताते हुए उन्होंने एनडीएमसी को सार्वजनिक जन सुविधा केंद्रों का समुचित रखरखाव करने को कहा।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?