मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
नदियां उफान पर: हजारों गांवों पर बाढ़ का खतरा PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 21 June 2013 10:47

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अनेक स्थानों पर बारिश होने से गंगा, घाघरा तथा शारदा समेत अनेक नदियां उफान पर हैं, जिससे खासकर तराई एवं तटवर्ती इलाकों के हजारों गांवों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है।
केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक हाल में नेपाल के बांधों से पानी छोड़े जाने से उफनाई घाघरा ने कहर ढाना शुरू कर दिया है। एल्गिनब्रिज :बाराबंकी: में जहां यह नदी खतरे के निशान से काफी उच्च्पर पहुंच गयी है। वहीं अब इस नदी का जलस्तर अयोध्या तथा तुर्तीपार :बलिया: में भी लाल चिह्न के नजदीक पहुंच रहा है। दोनों ही जगहों पर इसके जलस्तर में बढ़ोत्तरी हो रही है।
पलियाकलां :खीरी: में पहले से ही खतरे के निशान से


एक मीटर से ज्यादा उच्च्पर बह रही शारदा नदी अब शारदानगर में भी लाल चिह्न की तरफ बढ़ चली है।
गंगा नदी का जलस्तर फतेहगढ़ में, रामगंगा नदी मुरादाबाद में, राप्ती नदी का जलस्तर भिनगा :श्रावस्ती: तथा बलरामपुर में, बूढ़ी राप्ती ककरही :सिद्धार्थनगर: में तथा रोहिन नदी का जलस्तर त्रिमोहानीघाट :महराजगंज: में खतरे के निशान के निशान के नजदीक पहुंच गयी है।
आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक शामली जिले में उफनाई यमुना नदी के तेज बहाव के कारण मावी सतपुड़ा बांध के तटबंध में दरार आ गयी है, जिसकी मरम्मत की कोशिश की जा रही है।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?