मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
आधुनिक जीवनशैली के कारण कम उम्र में कम हो रही है याददाश्त PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 13 May 2013 17:11

लंदन। आधुनिक जीवनशैली के कारण कम उम्र में ही लोग याददाश्त कम होने एवं मस्तिष्क से संबंधित अन्य बीमारियों का शिकार बन रहे हैं। एक नए शोध में पाया गया कि कम्प्यूटर, मोबाइल फोन और रसायनों के ज्यादा प्रयोग के कारण लोग इन बीमारियों की गिरफ्त में आ रहे हैं ।
नवीनतम शोध में पाया गया है कि 74 वर्ष से कम उम्र के लोगों में याददाश्त खत्म होने एवं तंत्रिका संबंधी अन्य मामले तेजी से बढ़ रहे हैं ।
पब्लिक हेल्थ पत्रिका में छपे शोध के मुताबिक इसमें वृद्धि इसलिए हो रही है कि ज्यादा संख्या में उम्रदराज लोग इस तरह की स्थितियों से प्रभावित हो रहे हैं और चिंताजनक बात है कि यह कम उम्र


में शुरू हो रहा है और 55 वर्ष से कम उम्र के लोग भी अब इसके शिकार बनते जा रहे हैं ।
दस बड़े पश्चिमी देशों में तंत्रिका संबंधी बीमारी से होने वाली मौत के मामले में सबसे ज्यादा बुरी स्थिति अमेरिका की है जहां 1979 से 2010 के बीच पुरूषों की मौत में 66 फीसदी तक और महिलाओं की मौत में 92 फीसदी तक की वृद्धि हुई ।
ब्रिटेन चौथा बड़ा देश है जहां पुरूषों की मौत में 32 फीसदी और महिलाओं की मौत में 48 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई ।
भाषा

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?