मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
चुनाव आयोग ने की त्रिपुरा, मेघालय, नागालैंड में विधानसभा चुनाव की घोषणा PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 11 January 2013 18:28

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने पूर्वोत्तर के तीन राज्यों त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में अगले महीने विधानसभा चुनाव कराने की आज घोषणा की। त्रिपुरा में 14 फरवरी को और मेघालय एवं नगालैंड में 23 फरवरी को मतदान होगा । 
इसके साथ ही आयोग ने मिजोरम, पंजाब, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 23 फरवरी को और असम, बिहार और महाराष्ट्र में 24 फरवरी को विधानसभा की कुल मिलाकर नौ रिक्त सीटों पर उपचुनाव कराने का भी ऐलान किया ।
मुख्य चुनाव आयुक्त वी एस संपथ ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करते हुए कहा कि त्रिपुरा विधानसभा के लिए 14 फरवरी को चुनाव कराया जायेगा, जबकि मेघालय एवं नगालैंड विधानसभा के लिए 23 फरवरी को मतदान होगा । 
तीनों राज्यों में मतगणना 28 फरवरी को करायी जायेगी । चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही इन तीनों राज्यों में और साथ ही जहां उपचुनाव कराये जाने वाले हैं वहां आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी है ।
संपथ ने बताया कि इन तीनों राज्यों और साथ ही जिन राज्यों में विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव कराये जाने वाले हैं वहां शांतिपूर्ण ढंग से स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न कराने के लिए पर्याप्त संख्या में सामान्य पर्यवेक्षक और व्यय पर्यवेक्षक तैनात किये जायेंगे । सभी जगह मतदान इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों के जरिये होगा । 
मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि मेघालय विधानसभा का कार्यकाल 10 मार्च को समाप्त हो रहा है, जबकि नगालैंड विधानसभा का कार्यकाल 18 मार्च और त्रिपुरा विधानसभा का कार्यकाल 16 मार्च को समाप्त होगा । इन तीनों राज्यों में


विधानसभा की साठ साठ सीटें हैं ।
संपथ ने बताया कि त्रिपुरा विधानसभा के लिए अधिसूचना 21 जनवरी को जारी की जायेगी । नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 28 जनवरी होगी । इसके अगले दिन नामांकन पत्रों की जांच की जायेगी जबकि 31 जनवरी को नाम वापस लिये जा सकेंगे । मतदान 14 फरवरी को होगा ।
त्रिपुरा विधानसभा की 60 सीटों में से 20 सीटें अनुसूचित जनजाति और 10 सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं ।
मेघालय और नगालैंड विधानसभा चुनावों के लिए अधिसूचना 30 जनवरी को जारी की जायेगी । नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि छह फरवरी होगी । इसके अगले दिन नामांकन पत्रों की जांच की जायेगी जबकि नौ फरवरी को नाम वापस लिये जा सकेंगे । मतदान 23 फरवरी को होगा ।
मेघालय विधानसभा की साठ सीटों में से 55 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं । राज्य में मतदाताओं की कुल संख्या 14 लाख 81 हजार 473 है । राज्य में सौ फीसदी मतदाताओं के पास मतदाता फोटो पहचान पत्र है ।
नगालैंड में 59 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं । यहां मतदाताओं की कुल संख्या 11 लाख 81 हजार 731 है । राज्य में तकरीबन 96 फीसदी मतदाताओं के पास मतदाता फोटो पहचान पत्र है ।
त्रिपुरा में संशोधित मतदाता सूची कल जारी होगी और राज्य में मतदाताओं की कुल संख्या 22 लाख 77 हजार 415 है । (भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?