मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
रोबोट के खतरों का अध्ययन करेगा कैंब्रिज का ‘टर्मिनेटर सेंटर’ PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 26 November 2012 18:24

लंदन। कैंब्रिज विश्वविद्यालय ‘टर्मिनेटर स्टडीज’ के लिए अपना एक केंद्र खोल रहा है जहां जाने माने शिक्षाविद रोबोटों से उत्पन्न खतरों का अध्ययन करेंगे।
विशेषज्ञ अक्सर यह कहते रहे हैं कि भविष्य में मशीनें मानव के अस्तित्व के लिए खतरा हो सकती हैं।
इस सेंटर का उद्देश्य मानव प्रजाति के सामने मौजूद चार सबसे बड़े खतरों का अध्ययन करना होगा। ये चार खतरे हैं कृत्रिम बुद्धि, जलवायु परिवर्तन, परमाणविक युद्ध और खतरनाक जैवप्रौद्योगिकी।
डेली मेल की खबर के अनुसार, विश्व के जाने माने ब्रह्मांडवेत्ता और रॉयल के अंतरिक्ष यात्री लॉर्ड रीस इसके साथ ही


सेंटर फॉर द स्टडी आॅफ एग्जिस्टेंशियल रिस्क को भी लॉन्च करेंगे।
वर्ष 2003 में आई रीस की किताब ‘आवर फाइनल सेंचुरी’ ने यह चेताया था कि मानवीय विनाश का अर्थ है कि प्रजातियों का सफाया वर्ष 2100 तक हो सकता है।
मशीनें द्वारा एक दिन पूरी मानव प्रजाति पर अधिकार कर लेने का विचार विज्ञान की कई काल्पनिक किताबों और फिल्मों में दर्शाया गया है। नरसंहारक रोबोट बने एरनॉल्ड की भूमिका वाली ‘टर्मिनेटर’ भी ऐसी ही एक फिल्म है।

 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?