मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
रियो ओलंपिक तक लय जारी रखने की उम्मीद: जीतू राय PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 16 September 2014 10:19


नई दिल्ली। जीतू राय एक कैलेंडर वर्ष में पांच अंतरराष्ट्रीय पदक जीतने वाले पहले भारतीय निशानेबाज बन गए हैं, लेकिन वह और ज्यादा हासिल करने के भूखे हैं और 2016 रियो ओलंपिक तक जितने संभव हो उतने पोडियम स्थान हासिल करना चाहते हैं। 

25 साल के राय ने पिछले हफ्ते स्पेन के ग्रेनाडा में चल रही विश्व निशानेबाजी चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर ओलंपिक कोटा स्थान हासिल किया था, वह रियो ओलंपिक के लिए ऐसा करने वाले भारतीय भी बन गए। 

राय ने अपने करियर की बड़ी उपलब्धि के बाद कहा, ‘मैंने कोटा हासिल किया और एक रजत पदक भी। मैं इसी लय को जारी रखना चाहूंगा ताकि मैं आत्मविश्वास के साथ रियो ओलंपिक में प्रवेश कर सकूं। 2016 ओलंपिक खेल मेरा मुख्य लक्ष्य बने रहेंगे इसलिए मैं जरा सा भी रिलैक्स नहीं होना चाहता, मैं कड़ी मेहनत जारी रखना चाहता हूं।’

भारतीय सेना में जूनियर अधिकारी जीतू की निगाहें इंचियोन में आगामी एशियाई खेलों में पदक जीतने पर लगी हैं। उन्होंने इंचियोन रवाना होने से कुछ घंटे पहले कहा, ‘एशियाई खेल


भी एक बहुतस्पर्धा प्रतियोगिता है और मैं इसमें भी अच्छा करना चाहूंगा, इसमें पदक जीतकर देश के लिए गौरव हासिल करना चाहूंगा। उन्होंने कहा कि टूर्नामेंट काफी उच्च स्तरीय होगा, लेकिन मुझे पोडियम स्थान हासिल करने और लय जारी रखने का भरोसा है।’

वह अभी आइएसएसएफ विश्व रैंकिंग में पांचवें स्थान पर हैं, और इस साल जुलाई-अगस्त में ग्लास्गो में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण जीतने के बाद उनका यह साल शानदार रहा है। यह उनका 2014 में लगातार पांचवां अंतरराष्ट्रीय पदक था। उन्होंने इस साल के शुरू  में विश्व कप में लगातार पदक जीते थे। अभी तक विश्व चैंपियनशिप से कोटा हासिल करने वाले वह एकमात्र भारतीय निशानेबाज हैं, लेकिन उन्हें अपने साथी निशानेबाजों से भरोसा है। 

जीतू ने कहा, ‘मुझे पूरा भरोसा है कि हमारे कई निशानेबाज कोटा स्थान हासिल करेंगे। विश्व चैंपियनशिप के बाद विश्व कप है और हमारे निशानेबाज निश्चित रू प से अच्छा करेंगे। स्पेन में कुछ निशानेबाज करीब से कोटा चूक गए।’

(भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?